बड़ी खबर : दिल्ली के मुख्यमंत्री पहुंचे तिहाड़ जेल, अब कौन चलाएगा सरकार…..?

ख़बर शेयर करें 👉

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को राउज एवेन्यू कोर्ट ने 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ भेज दिया है,उन्हें 15 अप्रैल तक दिल्ली की तिहाड़ जेल में रखा जाएगा।
अब तक ईडी की हिरासत में रहते हुए केजरीवाल दिल्ली की सरकार को चला रहें थे, लेकिन अब बड़ा सवाल है कि क्या तिहाड़ जेल से ही अरविंद केजरीवाल सरकार चलाएंगे !

आम आदमी पार्टी और राजनीतिक बुद्धिजीवियों की बात करें तो केजरीवाल तिहाड़ जेल से ही सरकार चलाएंगे और बाहर उनकी धर्मपत्नी चुनाव प्रचार की कमान संभालेंगी।
केजरीवाल ने अपने वकीलों के जरिए कोर्ट में एक याचिका दायर की है, जिसमें उन्होंने मांग की है कि उन्हें जेल में तीन किताबें ले जाने की मंजूरी दी जाए।इन किताबों में भगवदगीता, रामायण और वरिष्ठ पत्रकार नीरजा चौधरी की किताब ‘हाउ प्राइम मिनिस्टर डिसाइड’ शामिल हैं,इसके साथ ही उन्होंने जेल में जरूरी दवाओं की भी मांग की है। इसके साथ केजरीवाल ने जो धार्मिक लॉकेट पहन रखा है, उसे भी अपने साथ जेल ले जाने की कोर्ट से मंजूरी मांगी है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand : कल रुद्रपुर आयेंगे पीएम मोदी, कई रूट किये डायवर्ड, इन वाहनों का प्रवेश बंद

बहरहाल, अब केजरीवाल जेल में रहेंगे, तो उन पर भी वही नियम-कायदे लागू होंगे, जो आम कैदियों पर होते हैं. जेल में हर चीज का एक नियम होता है. अब चूंकि, केजरीवाल ने अब तक इस्तीफा नहीं दिया है और वो अब भी मुख्यमंत्री हैं, तो सवाल उठता है कि क्या वो जेल से सरकार चला सकेंगे?

यह भी पढ़ें 👉  आज से लागू हुए ये 6 बड़े बदलाव, आपकी जेब पर ऐसे बढ़ेगा बोझ

तिहाड़ जेल के सुपरिंटेंडेंट रहे सुनील गुप्ता ने बताया कि न्यायिक हिरासत में रहते हुए केजरीवाल सरकार चला सकते हैं.
सुनील गुप्ता बताते हैं कि 2000 के दिल्ली प्रिजन एक्ट के मुताबिक, किसी भी जगह या बिल्डिंग को जेल घोषित किया जा सकता है. और केजरीवाल वहां रहकर सरकार चला सकते हैं. लेकिन इसका अधिकार उपराज्यपाल के पास है.