देहरादून: यहां उद्यान विभाग के निदेशक हरमिंदर बवेजा को मुख्यमंत्री धामी ने किया सस्पेंड, बताई यह वजह…..

ख़बर शेयर करें 👉

देहरादून: यहां भ्रष्टाचार के खिलाफ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। लगातार बचते चले आ रहे उद्यान विभाग के निदेशक हरमिंदर सिंह बवेजा को सस्पेंड करने के आदेश दिए है और मुख्यमंत्री धामी ने इस कार्रवाई से स्पष्ट संकेत दिए हैं कि भ्रस्टाचारियों के लिए सिस्टम में ‘इफ-बट’ की कोई गुंजाइश नहीं हैं।

बवेजा को मंत्री गणेश जोशी का करीबी माना जाता है। बता दें कि पूर्व में भी बवेजा पर कार्रवाई की बात हुई लेकिन हर बार बच निकले। लेकिन इस बार सीएम धामी के निर्देश पर बड़ी कार्रवाई हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: आईपीएस अभिनव कुमार को मिला डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार,….आदेश जारी

उद्यान विभाग की तनम योजनाओं को लेकर उन पर सवाल खड़े होते रहे हैं। सूत्रों की मानें तो उद्यान निदेशक के खिलाफ विभिन्न स्रोतों से मिल रही शिकायतों के आधार पर यह एक्शन लिया गया है। बताया गया कि बवेजा की शासन स्तर पर भी जांच चल रही थी लेकिन यह ठंडे बस्ते में पड़ी थी। अब मुख्यमंत्री धामी ने इस मामले में बड़ा कदम उठाते हुए बवेजा को निलंबित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

उत्तराखंड में भ्रष्टाचार के खिलाफ सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जबरदस्त मुहिम छेड़ी हुई है। अभी कुछ दिन पहले ही आईएएस रामविलास यादव को जेल भेजकर उन्होंने साफ और सख्त संदेश दिया है कि भ्रष्टाचार में लिप्त किसी भी कर्मिक को बख्शा नहीं जाएगा। अब बवेजा के खिलाफ कठोर एक्शन लेकर धामी ने जता दिया है कि भ्रस्टाचारियों के लिए उत्तराखंड में कोई जगह नहीं है।

यह भी पढ़ें 👉  चिन्यालीसौड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे सीएम धामी, श्रमिकों को 1-1 लाख की प्रोत्साहन राशि की भेंट

मुख्यमंत्री धामी की पहल पर प्रदेश में 1064 नंबर जारी किया गया है। इस मुहिम के तहत यदि किसी भी सरकारी विभाग में कोई कर्मचारी, अधिकारी आम जनता से किसी भी तरह की रिश्वत मांगता है तो 1064 टोल फ्री नंबर पर कॉल कर शिकायत की जा सकती है। शिकायत करने वाले का नंबर गुप्त रखा जाएगा। भ्रष्टाचार की शिकायत पर बेहद सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जांच एजेंसियों को खुली छूट दी गई है। सभी विभागों में भी 1064 के बोर्ड लगा दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: आईपीएस अभिनव कुमार को मिला डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार,….आदेश जारी

सीएम पुष्कर धामी ने साफ किया की विभागों में कमीशन मांगने वालों, जनहित के कार्यों में रिश्वत मांगने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। सीधी कार्रवाई की जाएगी। कर्मचारी छोटा हो या कोई बड़ा अफसर, किसी को भी भ्रष्टाचार की छूट नहीं दी जाएगी। सभी सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को पूरी ईमानदारी और पारदर्शी तरीके से काम करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *