कलयुगी औलाद : यहां भाई-बहनों ने मिलकर पिता की कर दी निर्मम हत्या,….पुलिस ने किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें 👉

अल्मोड़ा। उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले से सनसनीखेज़ हत्याकांड की खबर सामने आ रही है जिसको अंजाम कलयुग सगी औलादों ने ही दिया,” इस दिल दहला देने वाले हत्याकांड में दो सगी बेटियों और बेटे और बड़ी बेटी के प्रेमी ने मिलकर अपने पिता की बेरहमी से हत्या कर दी। सभी हत्यारों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, सुंदर लाल (60) पुत्र दुर्गाराम आईटीबीपी से कुछ माह पहले ही सेवानिवृत्त हुए थे। सेवानिवृत्ति के बाद वह रहने के लिए गांव आ गए, जबकि उनकी बड़ी बेटी डिंपल, बेटा रितिक और छोटी नाबालिग बेटी देहरादून में पिता के सरकारी आवास में रहते थे। 28 दिसंबर को दोनों बेटियां, बेटा और बड़ी बेटी का प्रेमी हर्षवर्धन पुत्र प्रसादी लाल निवासी संगम विहार दिल्ली गांव पहुंचे।

शुक्रवार शाम चारों ने मृतक के भाई को परिवार सहित मारपीट कर घर से भगा दिया। कुछ ही देर में घर से चिल्लाने की आवाज आने लगी। भाई ने ग्रामीणों को मौके पर बुलाया। सभी ने कमरे का दरवाजा तोड़कर अंदर देखा तो वहां सुंदर लाल का शव पड़ा था। आरोपियों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन गांव वालों ने उन्हें दबोचकर कमरे में बंद कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने भाई की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। इस जघन्य घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है।

एसएसपी ने आज मामले का खुलासा करते हुए बताया कि गत दिवस 29 दिसंबर, 2023 को वादी ओमप्रकाश निवासी ग्राम भांगादेवली थाना लमगडा जिला अल्मोड़ा द्वारा थाना लमगड़ा में एक तहरीर दी गई थी। जिसमें बताया गया था कि उनके भाई सुंदर लाल पुत्र दुर्गा राम की उसके ही दो पुत्रियों, एक पुत्र व एक अन्य युवक ने मिलकर हत्या कर दी है।

इस मामले में पुलिस ने मृतक के बच्चे डिंपल 25 वर्ष, एक विधि विवादित नाबालिग किशोरी, रीतिक विश्वकर्मा उम्र 21 वर्ष तथा एक अन्य युवक हर्षवर्धन को अभियुक्त बनाया था। यह सभी हाल में ITBP कैम्पस सीमाद्वार थाना बसन्तपुर जिला देहरादून रह रहे हैं। इनका स्थायी पता ग्राम भांगादेवली थाना लमगड़ा जिला अल्मोड़ा है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: कैंची धाम मेले को लेकर 14 व 15 को रहेगा यातायात डायवर्ट, देखें रूट……

इनमें से हर्ष वर्धन पुत्र प्रसादी लाल मकान नंबर 2117, गली नंबर 16 संगम बिहार दिल्ली का रहने वाला है। इन सभी के खिलाफ मृतक के भाई सुंदर लाल पुत्र दुर्गा राम निवासी ग्राम भांगादेवली थाना लमगड़ा जिला अल्मोड़ा द्वारा एफआईआर दर्ज की गई।

पुलिस की जांच में सामने आई ये कहानी

पुलिस जांच में पता चला कि इन चारों ने अपने पिता के हाथ बांधकर लाठी—डंडे व दराती से हत्या कर दी। जिसके आधार पर धारा 302 भादवि के अन्तर्गत बनाम रितिक विश्वकर्मा आदि के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया। थानाध्यक्ष लमगड़ा दिनेश नाथ महंत द्वारा थाना लमगड़ा पुलिस टीम को साथ लेकर मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए मृतक सुंदर लाल के शव का पंचनामा तैयार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। मुकदमे के संबंध में मृतक की पुत्री डिंपल, नाबालिग किशोरी, पुत्र रीतिक विश्वकर्मा तथा हर्ष वर्धन को आज तड़के ही भांगादेवली लमगड़ा से गिरफ्तार कर लिया। साथ ही हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिये ।
पूछताछ पर हत्या के सम्बन्ध में मृतक के पुत्र व पुत्रियो द्वारा बताया गया कि हमारे पिताजी ITBP से रिटायर आकर हमारे चाचा के परिवार के साथ गांव भांगादेवली लमगड़ा में रह रहे थे। हम लोग देहरादून में पढाई करते है। उनके पिता उनको पढ़ाई व रहने—खाने का कोई पैसा नही दे रहे थे। जिस कारण डिंपल द्वारा अपने दोस्त हर्ष वर्द्धन को दिल्ली से बुलाया। फिर उक्त चारों ने योजना बनाकर गत रात्रि को अपने पिता सुंदर लाल की घर में हाथ बांधकर हत्या कर दी।पुलिस ने हत्याकांड में प्रयुक्त दो डंडे व एक दराती भी बरामद की है। पुलिस टीम में एसओ लमगड़ा थाना दिनेश नाथ महंत, एसआई सुनील कुमार, अपर उप निरीक्ष्ज्ञक विक्रम सिंह, हेड कांस्टेबल दीवान राम, देवराज सिंह व कांस्टेबल अर्जुन लाल शामिल थे।