Uttarakhand: सरकार ने शुरू की बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना, 50 हजार छात्राओं को मिलेगी मुफ्त साइकिल

ख़बर शेयर करें 👉

उत्तराखंड सरकार ने राज्य में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना शुरू की है। योजना के तहत राज्य के सरकारी और अशासकीय विद्यालयों में कक्षा नौ की 50 हजार छात्राओं को मुफ्त साइकिल मिलेगी।
शिक्षा निदेशालय ने बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत 13 जिलों को इसके लिए 14 करोड़ की धनराशि जारी कर दी। योजना के तहत हर छात्रा के खाते में डीबीटी के माध्यम से साइकिल के लिए 2850 रुपये दिए जाएंगे।

शिक्षामंत्री डाॅ.धन सिंह रावत के मुताबिक राज्य में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना शुरू की है। योजना के तहत शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में कक्षा नौ में प्रवेश लेने वाली सभी छात्राओं को मुफ्त साइकिल योजना का लाभ दिया जा रहा है। योजना की खास बात यह है कि मैदानी क्षेत्रों के विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा नौ की सभी छात्राओं को अनिवार्य रूप से साइकिल क्रय करनी होगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी : देवखड़ी नाले में बही दो कारें, बाल-बाल बचे कार सवार, देखे वीडियो…

जबकि पर्वतीय क्षेत्रों की बालिकाओं को मुफ्त साइकिल क्रय करने या किसी अधिकृत बैंक व डाकघर में चार वर्षीय एफडी जमा करने का विकल्प दिया गया है। योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए संबंधित जनपद के मुख्य शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक, वित्त अधिकारी एवं जनपद के वरिष्ठतम प्रधानाचार्य की चार सदस्यीय समिति गठित की गई है, जो ब्लॉक स्तर पर 20 प्रतिशत लाभार्थियों का भौतिक सत्यापन करेगी, इसके अलावा समिति को मैदानी जनपदों में साइकिल क्रय व पर्वतीय जनपदों में एफडी का भौतिक सत्यापन कर निर्धारित प्रारूप पर रिपोर्ट निदेशालय को भेजनी होगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड : यहां दुष्कर्म पीड़िता ने दरोगा पर लगाया यौन शोषण करने का आरोप

इन जिलों की बालिकाओं के लिए यह रहेगी धन राशि
बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत अल्मोड़ा में 3492 बालिकाओं के लिए एक करोड़, बागेश्वर में 1595 के लिए 45 लाख, चमोली में 2533 के लिए 72 लाख, चंपावत में 1677 के लिए 47 लाख, देहरादून में 5615 के लिए एक करोड़ 60 लाख, पौड़ी 3284 के लिए 94 लाख, हरिद्वार में 7075 बालिकाओं के लिए दो करोड़, नैनीताल में 5021 के लिए एक करोड़ 43 लाख, पिथौरागढ़ में 2635 के लिए 75 लाख, रुद्रप्रयाग में 1736 बालिकाओं के लिए 50 लाख, टिहरी में 3780 बालिकाओं के लिए एक करोड़ आठ लाख, उत्तरकाशी में 2258 बालिकाओं के लिए 64 लाख एवं ऊधमसिंह नगर में 8429 छात्राओं के लिए दो करोड़ 40 लाख की धनराशि दी गई है।