ऊधमसिंह नगर: यहां SSP ने चौकी इंचार्ज समेत तीन को किया सस्पेंड, जानिए मामला

ख़बर शेयर करें 👉

ऊधमसिंह नगर। भाजपा नेता से नशे की हालत में चौकी में अभद्रता करना दो सिपाहियों को महंगा पड़ गया। इतना ही नही SSP ऊधमसिंह नगर ने चौकी इंचार्ज सहित दो सिपाही को सस्पेंड कर दिया है। उक्त मामले की जानकारी आज एसएसपी मंजुनाथ टीसी ने अपने कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान दी।

ऊधमसिंह नगर जनपद के जसपुर कोतवाली क्षेत्र के पतरामपुर चौकी क्षेत्र में कल देर रात दो पक्षों में मार पीट हो गई थी।
112 की सूचना पर चौकी में तैनात सिपाही सचिन और अनिल मौके पर पहुंचे और आरोपी को हिरासत में लेते हुए चौकी ले आए। इसी बीच भाजपा नेता चौकी में पहुंचे और घटना की जानकारी सिपाहियो से लेनी चाही।
जैसे ही भाजपा नेता ने सिपाही अनिल से घटना की जानकारी लेनी चाहिए तो सिपाही आग बबूला हो गया। सिपाही द्वारा न सिर्फ भाजपा नेता से भद्रता की बल्कि उनके साथ धक्का मुक्की भी की गई। सूचना पर जब कोतवाली की टीम मौके पर पहुंची तो आरोपी सिपाही ने चौकी में ही अपने दोस्तो के साथ महफिल जमाई हुई थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: यहां दो नाबालिक बहनों के साथ विशेष समुदाय के लड़कों ने होटल में किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

आरोपी अपने दोस्तो के साथ शराब और कबाब की दावत उड़ा रहे थे। जांच के दौरान ये भी सामने आया की चौकी पतरामपुर का चौकी इंचार्ज रुद्रपुर पुलिस लाइन में आयोजित नए कानून की पाठशाला में प्रतिभाग करने तो गया ,लेकिन बिना अनुमति के पिछले तीन दिनों से रुद्रपुर में रुका हुआ था। जबकि एसपी, सीओ, इंस्पेक्स्टर ट्रेनिग में प्रतिभाग के बाद अपने अपने थाना क्षेत्रों में पहुंच रहे थे। लेकिन चौकी इंचार्ज तीन दिनों से चौकी से गायब था। जिस कारण ये घटना हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: पंतनगर एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकी, मचा हड़कंप, बढ़ाई गई सुरक्षा

एसएसपी ने कार्य के दौरान लापरवाही बरतने के मामले में चौकी इंचार्ज सहित तीन सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है। जबकि चौकी में शराब पीने वाले दोस्त में एक दोराहे चौकी में तैनात सिपाही भी होना प्रकाश में आया है। जिसकी ड्यूटी सम्मन तामिल में लगी है।

यह भी पढ़ें 👉  15 मई का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे…….!

एसएसपी मंजू नाथ टीसी ने चौकी इंचार्ज संदीप शर्मा सहित तीन सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है। उन्होंने बताया की जिन लोगों के साथ सिपाही द्वारा अभद्रता की गई है अगर उनके द्वारा तहरीर दी जाती है तो उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी।