दुःखद : उत्तराखंड का लाल भारत चीन सीमा पर ड्यूटी के दौरान हुआ शहीद, परिवार में मचा कोहराम

ख़बर शेयर करें 👉

उत्तकाशी। उत्तराखंड के लिए बेहद दुखद खबर सामने आ रही है। उत्तकाशी के कुमराड़ा गांव निवासी भारतीय सेना की गढ़वाल स्काउट में राइफलमैन शैलेंद्र सिंह कठैत ड्यूटी के दौरान वीरगति को प्राप्त हो गए। उनके बलिदान की सूचना से गांव व क्षेत्र में शोक की लहर है।

जानकारी के अनुसार, राइफलमैन शैलेंद्र सिंह कठैत भारत-चीन सीमा के नीति घाटी की गोल्डुंग पोस्ट में तैनात थे। गत दिवस वो अपने साथियों के साथ गश्त कर रहे थे और ड्यूटी के दौरान वो शहीद हो गए। शहीद राइफलमैन शैलेंद्र का पार्थिव शरीर बुधवार को घर लाया जाएगा। सैन्य सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव के पैतृक घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

बताया जा रहा है कि शैलेंद्र घर का इकलौता चिराग था। उसकी दो छोटी बहने हैं। बताया जा रहा है कि दो महीने पहले ही शैलेंद्र के पिता कृपाल सिंह कठैत का निधन हो गया था। पिता के निधन पर वो घर आए थे और पिता का अंतिम संस्कार कर ड्यूटी पर वापस लौटे थे। शैलेंद्र घर का इकलौता चिराग थे। उनकी दो छोटी बहनें भी हैं। शैलेंद्र की पांच और एक वर्ष की दो छोटी बेटियां हैं। शैलेंद्र सिंह की शहादत के बाद से उनकी पत्नी अंजू बेसुध पड़ी हुई है और मां का रो-रोकर बुरा हाल है।