सावधान: अयोध्या राम मंदिर में चंदे के नाम पर आ रहा ऑनलाइन क्यूआर कोड…भूल कर भी न करें ये गलती

ख़बर शेयर करें 👉


अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर सोशल मीडिया से लेकर हर तरफ हर्षोल्लास नजर आ रहा है। लेकिन इस बीच साइबर ठगों ने भी अपना जाल फैला लिया है।

यदि आपको कोई ऑनलाइन क्यूआर कोड भेजकर राम मंदिर निर्माण या प्रसाद वितरण, एंट्री पास दिलवाने के नाम पर पैसे भेजने के लिए कहे तो जरा सावधान हो जाइए। जी हां, क्योंकि अयोध्या में श्रीराम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम के चलते साइबर ठग भी सक्रिय हो गए हैं।

साइबर जालसाज लोगों को मैसेज, क्यूआर कोड भेजकर पैसे की मांग कर रहे हैं। इसलिए सावधानी बरतने के साथ ही जागरूक होने की आवश्यकता है। पुलिस और साइबर क्राइम सेल की टीम भी लोगों को सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से सचेत कर रही है।
साइबर ठगों ने भी अपना जाल फैला लिया है। किसी से राम मंदिर के लिए चंदा मांगा जा रहा है तो वीआईपी पास और एंट्री दिलाने का झांसा दिया जा रहा है। यही नहीं, सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर क्यूआर कोड भेजकर पैसे भेजने की भी डिमांड की जा रही है। यूपी के सामने आए मामलों के अनुसार, राम मंदिर अयोध्या के नाम पर फर्जी वेबसाइट भी बना दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

पुलिस ने भी अपील की है कि अगर आपके पास राम मंदिर को लेकर कोई मैसेज आए तो और चंदा लेने से लेकर वीआईपी पास दिलाने, प्रसाद के लिए धन लेने की बात कहीं जाए तो उस पर ध्यान न दें। क्योंकि ये साइबर ठगों की साजिश है। ऐसा करके वह आपके साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: कैंची धाम मेले को लेकर 14 व 15 को रहेगा यातायात डायवर्ट, देखें रूट……

इस पर दें ध्यान

  • राम मंदिर अयोध्या के नाम पर ऑनलाइन चंदा मांगे तो ध्यान न दें।
  • अनजान नंबर से व्हाट्सएप पर आए मैसेज का बिना सत्यापन के रिप्लाई न करें।
  • सत्यापन किए बिना किसी को भी ऑनलाइन चंदा न दें।
  • अगर साइबर ठगी का शिकार हो भी जाएं तो तत्काल 1930 पर शिकायत दर्ज करें।
यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

साइबर ठगी से बचाव के लिए सबसे बड़ा उपाय सावधानी है। ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए सावधानी बरतने के साथ ही जागरूक होना बेहद जरूरी है। पुलिस लगातार सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से लोगों को सचेत कर रही है। – प्रमेंद्र सिंह डोबाल, एसएसपी हरिद्वार