उत्तराखंड : यहां प्रेमिका ने भाई के साथ मिलकर की प्रेमी की हत्या, धर्म की वजह से प्रेमी ने शादी से किया था इनकार

ख़बर शेयर करें 👉

उत्तराखंड के मसूरी के होमस्टे में हुई सनसनीखेज हत्याकांड का देहरादून पुलिस ने खुलासा कर दिया है. साथ ही पुलिस ने एक युवती और उसके भाई को गिरफ्तार किया है।

पूरे हत्याकांड को युवती ने प्रेम प्रसंग के चलते अंजाम दिया था. मृतक कपिल चौधरी की प्रेमिका ही पूरे हत्याकांड की मास्टरमाइंड थी. उसने प्रेमी की ओर से शादी से इनकार करने के बाद हत्याकांड का प्लान बनाया था. देहरादून पुलिस ने मामले में आरोपी प्रेमिका कुदरत और उसके भाई अब्दुल्ला को गिरफ्तार किया है।

मसूरी पुलिस को रविवार के दिन सूचना मिली थी कि भट्टा गांव में स्थित होटल के रूम में एक युवक की लाश खून से लथपथ पड़ी है. सूचना से मसूरी में हड़कंप मच गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि बॉडी रुड़की के रहने वाले 24 साल के कपिल चौधरी की है, जिसके पिता यूपी पुलिस में दारोगा के पद पर तैनात हैं. इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. पुलिस ने दिल्ली के शाहीन बाग की रहने वाली प्रेमिका कुदरत और उसके भाई अब्दुल्ला को हरिद्वार से गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं: यहां खाद्य पूर्ति विभाग ने की ताबड़तोड़ छापेमारी, इन दुकानों के काटे चालान

पूछताछ में आरोपी युवती कुदरत ने बताया कि दो साल पहले दिल्ली में कपिल से जान-पहचान हुई थी. जान पहचान प्यार में बदल गई. 7 जन्मों के वादों के साथ दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने लेकिन जब शादी की बात आई तो कपिल मुकर गया. इस पर कुदरत ने अपने भाई अब्दुल्ला से मिलकर कपिल की हत्या की साजिश रची. शाजिश के तहत मसूरी लाकर मौत के घाट उतार दिया.

देहरादून के एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने बताया कि आरोपी कुदरत और कपिल की शादी न हो पाने की वजह, दोनों का अलग-अलग धर्मों से होना था. यह कपिल के परिवारवालों को गवारा नहीं था, इसीलिए परिवार के दबाव में कपिल ने प्रेमिका को शादी के बंधन में बंधने से इनकार कर दिया था. इतना ही नही कुदरत मुस्लिम धर्म से थी और कपिल हिंदू धर्म से था. पुलिस पूछताछ में पता चला कि कुदरत ने अपने परिवार में कपिल का नाम सलमान बताया था. हालांकि, कपिल के घर में यह बात पता थी कि कुदरत अलग धर्म से है. इसके चलते घरवालों ने शादी से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: यहां बुजुर्ग महिला की दिनदहाड़े हुए हत्या का पुलिस ने 48 घंटों में खोला रहस्य

एसएसपी के मुताबिक कुदरत यह बर्दाश्त नहीं कर पाई और मन में ठान चुकी थी कि अगर कपिल मेरा नहीं हुआ तो किसी का नहीं होगा. कुदरत ने जिस हाथ पर प्रेमी का नाम गुदवाया था, उसी हाथ से कपिल को मौत के घाट उतार दिया. मसूरी के एक होमस्टे में कपिल, कुदरत और उसका भाई अब्दुल्ला रुके थे. कुदरत ने हत्या में अपने भाई की मदद ली थी. कुदरत और उसके भाई ने घुमाने के बहाने कपिल को हरिद्वार बुलाया था. फिर हरिद्वार से तीनों कपिल की गाड़ी में मसूरी पहुंचे और रात में यहीं रुक गए. वहां फिर कुदरत ने कपिल को शादी के लिए कहा तो उसने अलग-अलग धर्मों के होने की वजह से शादी से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: चारधाम में यू ट्यूब और रील बनाने वालों के लिए बड़ी खबर, मंदिर में किया मोबाइल का इस्तेमाल तो होगी सख्त कार्रवाई

इसके बाद देर रात जब कपिल गहरी नींद में सोया था तो कुदरत और अब्दुल्ला ने उसकी गला रेत कर हत्या कर दी. साथ ही उसके शव को बेड के नीचे छुपा कर कपिल की गाड़ी से फरार हो गए. पुलिस ने इस ब्लाइंड मर्डर को 48 घंटों में ही सुलझा दिया. पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे खंगाले, तब जाकर हत्या का राज खुला. पुलिस ने कपिल की प्रेमिका कुदरत और उसके भाई अब्दुल्ला को पकड़ लिया है. दोनों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया और जेल भेज दिया गया है।