लालकुआं: इस फैक्ट्री में राजस्व विभाग और खनन विभाग द्वारा की गई छापेमारी, फैक्ट्री संचालक द्वारा खोदे गए गड्डे में मिली सेंचुरी की प्रदूषित राख

ख़बर शेयर करें 👉

लालकुआं। हल्दूचौड़ स्थित गंगापुर में शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक में चोरीचुपके से अवैध खनन कर खोदे गए गड्डे में सेंचुरी की कालीराख से भरे जाने की खबर मीडिया में प्रकाशित होते ही खनन विभाग की नींद खुली है। शुक्रवार को खनन विभाग के अधिकारी ताजभर नेगी व राजस्व विभाग की पटवारी सुनीता लोहनी व लक्ष्मी नारायण यादव द्वारा एक फिर शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक में छापेमारी की गई इस दौरान टीम ने उक्त गड्डे की पैमाइश की। लेकिन टीम से पहले ही गड्डे को सेंचुरी की कालीराख से भर दिया गया। वही खनन विभाग की कार्रवाई लगभग एक घट़े तक चली जिस पर टीम ने मौके पर ही रिर्पोट तैयार की जिसके बाद रिर्पोट जिलाअधिकारी को भेजी जाएगी।

बताते चले कि बीते दो पूर्व लालकुआं तहसील क्षेत्र के अंतर्गत हल्दूचौड़ स्थित गंगापुर में शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक में चोरीचुपके से अवैध खनन कर खोदे गए गड्डे में सेंचुरी से निकलने वाली कालीराख से भरने की शिकायत पर राजस्व विभाग ने उक्त खड़िया स्टॉक में पहुचकर छापेमारी कार्रवाही जरूर की थी। वही अवैध खनन पर हुई छापेमारी की खबर मीडिया पर प्रकाशित हुई जिसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आया। शुक्रवार को जिलाअधिकारी के निर्देश पर खनन विभाग के अधिकारी ताजभर नेगी और राजस्व की पटवारी सुनीता लोहनी व लक्ष्मी नारायण ने शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक में औचक छापेमारी की। वही छापेमारी के दौरान स्टॉक में मौजूद खनन सामग्री तथा खोदे गए गड्डे की विभाग द्वारा दूबरा पैमाइश की गई।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

इस मौके पर खनन विभाग के अधिकारी ताजभर नेगी ने कहा कि आज उन्होने दुबारा हल्दूचौड़ क्षेत्र के गंगापुर स्थित शिंवाता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक में पहुच कर छापेमारी कर स्थलीय निरीक्षण किया है उन्होने कहा कि छापे के दौरान जिस भूमि से उप खनिज निकाला गया था उसकी पैमाइश उनकी टीम द्वारा की गई हैं। उन्होने कहा कि जिस भूमि पर अवैध खनन किया गया है उसमें सेचुरी पेपर मिल की राख डाली गई है उन्होने कहा कि इस मामले में स्टाॅक मालिक को नोटिस भेजा जाएगा तथा राजस्व विभाग और खनन विभाग की सयुक्त रिर्पोट जिलाअधिकारी को भेजी जाएगी जिसके बाद जो निर्देश मिलेगा उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।