उत्तराखंड: यहां वन दरोगा 15 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें 👉

पौड़ी। उत्तराखंड विजिलेंस का भ्रष्टाचारियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने का अभियान जारी है। इसी क्रम में विजिलेंस की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए वन विभाग चाकीसैंण सैक्सन पावौ रेन्ज पौड़ी के वन दरोगा को सरकारी कार्य की एवज में 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। मामले को लेकर शिकायतकर्ता ने विजिलेंस में शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायत सही पाई जाने पर विजिलेंस की टीम ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है।

शिकायतकर्ता ने बताया बीते 2 मार्च 2024 को पैठाणी पौड़ी गढवाल में वन पंचायत पाबो की सभा हुई थी। जिसमें वन पंचायत के अन्तर्गत आने वाले गांवों की आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लोगो को मुर्गी, बकरी पालन जैसे कार्यो को विभागीय अनुदान दिये जाने के संबंध में जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: भाजपा ने बद्रीनाथ और मंगलौर विधानसभा उपचुनाव के लिए इन्हें बनाया प्रत्याशी

शिकायतकर्ता ने बकरी पालन के लिए 50 हजार का अनुदान मांगा। जिसके बाद विभाग ने उसके खाते में राशि जमा करा दी। इस बीच वह मौजूद वन दरोगा हंस राज पंत ने शिकायतकर्ता से उस सम्बन्ध में फार्म भरवाने और विभागीय अनुदान पास करवाने की एवज में रिश्वत की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा: यहां आग की चपेट में आने से 4 वन कर्मियों की दर्दनाक मौत, विभाग की गाड़ी भी राख..

प्रथम दृष्टया शिकायतकर्ता के आरोप सही पाए गए। जिसके बाद विजिलेंस की टीम ने मंगलवार को चाकीसैंण सैक्सन पावौ रेन्ज पौड़ी के वन दरोगा हंस राज पंत को शिकायतकर्ता से 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पैठाणी बाजार पौड़ी गढवाल से रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। फिलहाल आरोपित दरोगा से पूछताछ जारी है।