उत्तराखंड: यहां जानवरों की चर्बी से बने घी के 205 कनस्तर बरामद, चार लोग गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें 👉

किच्छा। पुलभट्टा पुलिस ने सिरौली कलां में छापेमारी कर एक गोदाम से जानवरों की चर्बी से बने घी की खेप पकड़ी है। मौके से 205 कनस्तर घी बरामद कर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी त्यौहारी सीजन में दुकानों और नामी गिरामी फैक्ट्रियों में घी सप्लाई करते थे। पुलिस ने बरामद चर्बी की कीमत दो लाख पांच हजार रुपये बताई है। आरोपियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

बुधवार को पुलभट्टा थाने में घटना का खुलासा करते हुए एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि सिरौली कलां निवासी इकबाल साबरी गिरोह बनाकर त्यौहारी सीजन के लिए किच्छा और गांव दरऊ क्षेत्र में जानवरों का वध कर उसकी चर्बी से घी बना रहा है। इसे वह आसपास की दुकानों और कुछ फैक्ट्रियों में ऊंचे दाम में बेच रहा है। सूचना मिलने के बाद मंगलवार की शाम पुलभट्टा पुलिस ने चार बीघा सिरौली कलां वार्ड 18 में एक गोदाम पर छापा मारा। छापे के दौरान चार व्यक्ति गोदाम से कनस्तर निकालकर पिकप वाहन में लोड कर रहे थे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: यहां फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रहा शिक्षक बर्खास्त

पुलिस ने दबिश देकर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने अपना नाम इकबाल साबरी पुत्र हसमतुल्ला कुरैशी निवासी वार्ड 12 किच्छा, नईम कुरैशी पुत्र तालीब हुसैन निवासी वार्ड 15 किच्छा, यासीन मलिक पुत्र हनीफ और मो. आलम पुत्र अशफाख हुसैन निवासी पीपलसाना थाना भोजपुर जिला मुरादाबाद बताया। पुलिस ने पिकप वाहन से चर्बीयुक्त घी के दो सौ कनस्तर और गोदाम में पांच कनस्तर बरामद किए। चर्बी युक्त घी को बरामद कर वाहन को सीज कर दिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। खाद्य निरीक्षक आशा आर्या और पशु चिकित्सक डॉ. मृगेश चौधरी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने बरामद घी के नमूने लेकर लैब में भेजने के लिए संरक्षित कर लिया है।