हल्द्वानी: यहां संदिग्ध परिस्थितियों में हुई नर्स की मौत, 16 दिन बाद होनी थी शादी

ख़बर शेयर करें 👉

हल्द्वानी। एक प्राइवेट हॉस्पिटल में तैनात नर्स हॉस्पिटल के हॉस्टल में बेहोश मिली। आनन-फानन में उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतका की 16 जून को शादी होनी थी।

मूलरूप से गौना बडालू झूलाघाट पिथौरागढ़ निवासी नीलम (23 वर्ष) पुत्री लक्ष्मण चंद मुखानी चौराहे के पास स्थित एक नर्सिंग होम में नर्स थी। नीलम के पिता फौज में हैं और वह दो भाई-बहन में बड़ी थी। नीलम डेढ़ माह पहले ही नर्सिंग होम में काम करने आई थी और नर्सिंग हॉस्टल में रहती थी। 16 जून को उसकी शादी होने वाली थी।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

पुलिस के मुताबिक बुधवार की रात उसके साथ काम करने वाली नर्स आशा जब ड्यूटी करके नर्सिंग हॉस्टल पहुंची तो नीलम बाथरूम में बेहोश पड़ी थी। उसने तुरंत इसकी सूचना युवती के परिजनों और अस्पताल प्रबंधन को दी। जिसके बाद नीलम को डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गुरुवार को पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। बताया जा रहा है कि दवा के ओवरडोज की वजह से नीलम की मौत हुई है। हालांकि किन परिस्थितियों में यह दवा ली या दी गई, इसका खुलासा नहीं हुआ है। पुलिस का कहना है कि मौत की असल वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही सामने आएगी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: कैंची धाम मेले को लेकर 14 व 15 को रहेगा यातायात डायवर्ट, देखें रूट……

नीलम को जब डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया तो उसके हाथ में कैथ लगी थी। इसी कैथ के जरिये मरीजों को ग्लूकोज चढ़ाया जाता है। बताया जाता है कि जब वह बाथरूम में पड़ी मिली तो भी उसके हाथ में कैथ लगी थी। तलाशी में घटना स्थल पर एक खाली शीशी भी मिली है। सूत्रों का कहना है कि ये शीशी बेहोशी की दवा की थी। माना जा रहा है कि इसी दवा के ओवरडोज की वजह से नीलम की मौत हुई।