रक्षा बन्धन व जन्माष्टमी पर्व के उपलक्ष्य में दुग्ध उत्पादकों को सौगात

ख़बर शेयर करें 👉

लालकुआं। नैनीताल दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लि लालकुआ (नैनीताल) द्वारा 74 वार्षिक सामान्य निकाय में पारित प्रस्ताव व दुग्ध मा0 मंत्री सौरभ बहुगुणा द्वारा दिए निर्देशों पर वर्तमान दुग्ध मूल्य लागत को दृष्टिगत रखते हुए ग्राम स्तर पर दुग्ध उत्पादकों से क्रय किए जा रहे दूध खरीद मूल्य में दिनांक 25 अगस्त से प्रतिलीटर एक रूपये बढाया जाने के निर्णय लिया गया है।

दुग्ध संघ अध्यक्ष मुकेश सिंह बोरा द्वारा उक्त जानकारी देते हुए कहा कि दुग्ध मंत्री सौरभ बहुगुणा द्वारा बढते दुग्ध उत्पादन लागत को देखते हुए किसानों की दुग्ध क्रय दरो को बड़ाए जाने के निर्देशों के क्रम में विगत 19 अगस्त 2023 को सम्पन्न हुई 74 वार्षिक सामान्य निकाय बैठक में उक्त प्रस्ताव पारित कर दिनांक 25 अगस्त 2024 से नैनीताल जनपद में आंचल से सम्बद्ध 605 दुग्ध समितियों से जुड़े 30 हजार दुग्ध उत्पादको से ग्राम स्तर पर क्रय किए जा रहे उनके दूध मूल्य में प्रतिलीटर 01 रूपये बढाने का निर्णय लिया गया है। श्री बोरा ने कहा कि रक्षा बन्धन व जन्माष्टमी पर्व पर दुग्ध उत्पादको को सौगात देते हुए वर्तमान दुग्ध क्रय दर 45 रूपये प्रतिलीटर से बढाकर दिनांक 25 अगस्त 2023 से प्रतिलीटर 46 रूपये निर्धारित की गई है जो अब तक मार्च 2022 से वर्तमान तक 9 रू0 प्रतिलीटर की वृद्वि है जो दुग्ध संघ के 76 वर्षो के कार्यकाल में एतिहासिक निर्णय है। जिससे निश्चित ही किसानों को उनके दूध के लागत मूल्य की भरपाई होगी।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

एक सवाल के जवाब में श्री बोरा ने कहा कि वर्तमान में उपभोक्ताओं के जेब में बिना वित्तीय बोझ दुग्ध क्रय दरे बढाई गई है। जल्द ही वित्तीय आंकलन उपरान्त बाजार दरो पर निर्णय लिया जायेगा। इसके साथ ही जानकारी देते हुए कहा कि दुग्ध उत्पादको को दुग्ध समितियों के माध्यम से लाभान्वित किए जाने हेतु दुग्ध संघ द्वारा बेहतर प्रयास किए जा रहे है जिसमे जनपद में पशु चिकित्सा सुविधा के साथ साथ नियमित रूप से आकस्मिक पशु चिकित्सा, पशु रोग निवारण कैम्प, संक्रामक रोग से सुरक्षा हेतु रोग प्रतिरोध टीकाकरण कार्यक्रम चलाए जा रहे है इसके साथ ही एन.सी.डी.सी योजना में महिलाओं एंव अनुसूचित जाति के लाभार्थियों को 75 प्रतिशत व सामान्य वर्ग के लाभार्थियों को 50 प्रतिशत में 2 व 3 व 5 दूधारू पशु क्रय हेतु अनुदान में ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन, पशु पोषण अनुदान, पर्वतीय क्षेत्र के समिति सचिव हेतु सचिव प्रोत्साहन योजना एंव भूसा अनुदान डी.बी.टी. के माध्यम प्रत्येक दुग्ध उत्पादक के खाते में सीधे भुगतान किया जा रहा है । इस दौरान श्री बोरा ने बताया कि संस्था की बेहतर कार्य प्रणाली बनाये रखने हेतु कर्मचारियों की मांगो के निराकरण हेतु गंभीर प्रयास किये जा रहे है ।
इस दौरान सामान्य प्रबन्धक निर्भय नारायण सिह, प्रभारी वित्त उमेश पढालनी, प्रभारी विपणन संजय भाकुनी, प्रभारी एम.आई.एस. पी.एस. खत्री, प्रभारी पीएड आई मोहन जोशी आदि उपस्थित थे।