गौला खनन कारोबारियों की हड़ताल खत्म, विभिन्न मांगो पर बनी सहमति

ख़बर शेयर करें 👉

लालकुआं। गौला खनन मजदूर उत्थान समिति के बैनर तले गौला नदी के वाहन स्वामी 6 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले 2 महीने से अलग-अलग तरीके से धरना प्रदर्शन कर अपनी मांगों को मनवाने के लिए सरकार पर दबाव बना रहे थे. इसके बाद आखिरकार जिला प्रशासन और खनन करबारियों के बीच विभिन्न मांगो पर सहमति बनने के बाद शुक्रवार को खनन कारोबारीयों ने हड़ताल वापस ले ली है।

गुरुवार को वाहन स्वामियों की बेरीपड़ाव में बैठक आयोजित की गई, जिसमे जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार हल्द्वानी सचिन कुमार भी मौजूद रहे। इस दौरान क्रेशर स्वामियों द्वारा 29 रुपए भाड़ा देने का सहमति पत्र दिया गया, साथ ही प्रशासन ने जीपीएस की वाध्यता को मई 2024 तक लागू नहीं करने, वाहनों के फिटनेस को जिला प्रशासन की चार सदस्यीय टीम की देख रेख में सरकारी रशीद के अनुरूप ही जमा करने, 10 जनवरी तक गौला नदी में इलेक्ट्रॉनिक कांटे स्थापित करने समेत तमाम मांगो पर सहमति बनी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: यहां नाबालिग लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, परिजनों ने लगाए हत्या सहित गंभीर आरोप…

समिति के अध्यक्ष रमेश चंद्र जोशी ने कहा कि प्रशासन ने हमारी छह सूत्रीय मांगों को मान लिया है। 10 जनवरी के बाद जब कंप्यूटर कांटे लगेंगे तो गौला से सुचारू रूप से उपखनिज निकासी शुरू कर दी जाएगी। समिति के महामंत्री जीवन कबडवाल समेत अन्य वाहन स्वामियों ने शासन प्रशासन का आभार जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *