लालकुआं: प्रशासन टीम ने शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक पर मारा छापा, मिली सेंचुरी पेपर मिल की काली राख…..

ख़बर शेयर करें 👉

लालकुआं तहसील क्षेत्र के अंतर्गत हल्दूचौड स्थित गंगापुर में शिवांता जेडी मिनरल्स खड़िया स्टॉक के मालिक ने परिसर के अंदर भूमि पर जेसीबी से अवैध खनन कर कई मीटर गहरा तथा कई मीटर लंबा गड्ढा खोद दिया, साथ ही मलिक द्वारा खोदे गए उक्त गड्ढे को स्थानीय सेंचुरी पेपर मिल से आई काली राख से भरा जा रहा था। इधर शिकायत पर प्रशासनिक टीम ने खड़िया स्टॉक पर छापा मारा। इस दौरान मौके पर टीम को गहरा गड्ढा मिला जिसकी पैमाइश करने के बाद टीम ने रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेज दी है। वही स्टॉक परिसर में प्रशासन की टीम को भारी मात्रा में सेचुरी मिल से आई काली राख के ढेर भी मिले जो सेचुरी पेपर मिल से डंपरों के माध्यम से खडिया स्टॉक परिसर में लाई गई थी।

बताते चलें कि विगत कई दिनों से स्थानीय सेंचुरी पेपर मिल कि काली राख खुलेआम धड़ल्ले से प्रशासन की नाक के नीचे से क्षेत्र के कई स्टोन क्रशरों में पहुंचाई जा रही थी। वही सूत्रों के माने तो उक्त काली राख से स्टोन क्रेशरों में मिलावट का खेल खेला जा रहा था। लेकिन प्रशासन ने आज तक इस ओर कार्रवाई नही की, कहे तो अपनी आंखें मूंद रखी थी। जिसका खामियाजा आम आदमी को अपनी जेब से भुगतना पड़ रहा था। इधर विगत दिनों से सोशल मीडिया पर चली लगातार खबरों के बाद प्रशासन हरकत में आया और प्रशासन ने कुछ स्टोन क्रेशरों पर छापेमारी कार्यवाही भी की जिसके चलते दो चार दिन तक काली राख की मिलवाट का खेल बंद रहा। आज एक बार फिर सेंचुरी पेपर मिल से काली राख के निकलने का सिलसिला शुरू हुआ। बताया जा रहा है उक्त खेल में कई प्रशासनिक एवं राजनीतिक दल के नेता भी शामिल है जिनकी मिलीभगत से यहां खेल खेला जा रहा है। इधर आज हल्दूचौड़ क्षेत्र के गंगापुर स्थित शिवांता जेडी खड़िया मिनरल्स स्टॉक के अंदर अवैध खनन होने की सूचना प्रशासन को मिली जिसपर तहसीलदार मनीषा बिष्ट ने तुरंत संज्ञान लेते हुए नायब तहसीलदार राजीव बर्मा को टीम के साथ मौके पर जाकर स्थिति से अवगत कराने के निर्देश दिये थे।तहसीलदार के आदेश के बाद दोपहर में नायब तहसीलदार राजीव बर्मा ने पटवारी सुनिता लोहनी के साथ शिंवाता जेडी मिनरल्स खडिंया स्टॉक में छापा मारा, छापे की सूचना से पूर्व ही स्टॉक परिसर पर मौजूद खनन माफिया भाग खड़े हुए जहां टीम ने मौके पहुचकर खोदी गई भूमि की पैमाइश की साथ परिसर में लगे काली राख के ढेर की फोटोग्रापी भी की।
इधर नायब तहसीलदार राजीव बर्मा ने बताया कि छापे के दौरान जिस भूमि से खनन निकाला गया था। उसकी पैमाइश कर रिपोर्ट तैयार की गई, उन्होने बताया कि करीब 15 मीटर लंबा तथा 4 मीटर गहरा जेसीबी से गड्ढा कर उपखनिज निकली गई थी। उन्होने बताया कि उक्त खोदे गए गड्डे को सेंचुरी पेपर मिल कि काली राख से भरा जा रहा था।उन्होने कहा इस मामले में स्टॉक मालिक को नोटिस भेजा जाएगाm उन्होने कहा कि सेंचुरी पेपर मिल की काली राख कैसे स्टॉक परिसर में आई कौन लाया इसकी भी जांच कराई जाएगी।उन्होने कहा कि सेचुरी पेपर मिल प्रशासन से भी इस मामले में पुछा जाएगा जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।