नैनीताल: यहां दर्दनाक हादसा, खाई में गिरा मैक्स वाहन, 6 लोगों की मौत, चार घायल

ख़बर शेयर करें 👉

नैनीताल। जिले से दुःखद खबर सामने आ रही है, यहां देर शाम हल्द्वानी से पुटपुड़ी यात्रियों को लेकर जा रहा एक मैक्स वाहन अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरा। हादसे में वाहन चालक समेत छह लोगों की मौत हो गई। वहीं चार लोग घायल हो गए।

मिली जानकारी के अनुसार, हल्द्वानी से पुटपुड़ी जा रही मैक्स (UK04TA4243) बुधवार की शाम 6:30 बजे करीब ओखलकांडा के पतलोट मोटर मार्ग से दो किमी पहले अनरबन के पास अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। हादसा होते ही ग्रामीणों ने पुलिस और प्रशासन को घटना की जानकारी दी। इस बीच पुलिस, राजस्व विभाग के निरीक्षक कुंदन गिरी, उप निरीक्षक गौरव रावत मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को खाई रेस्क्यू कर पतलोट प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां से उन्हें एबुलेंस की मदद से हल्द्वानी एसटीएच रेफर किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  12 जून का राशिफल: जानिए, क्या कहते हैं आज आपके भाग्य के सितारे,….पढ़ें आज का दैनिक राशिफल

हादसे में वाहन चालक 30 वर्षीय भुवन चंद्र भट्ट पुत्र डुंगर देव भट्ट निवासी पुटपुड़ी, 38 वर्षीय उमेश परगांई पुत्र हरीश परगांई निवासी भद्रकोट, 19 वर्षीय ममता भट्ट पुत्री भोलादत्त निवासी पुटपुड़ी, 13 वर्षीय कविता परगांई पुत्री महेश निवासी भद्रकोट, 33 वर्षीय पार्वती देवी पत्नी महेश चंद्र निवासी भद्रकोट और 36 वर्षीय महेश चंद्र परगांई पुत्री रमेश चंद्र की मौके पर मौत हो गई। वहीं घायलों को हल्द्वानी एसटीएच में भर्ती कराया गया है। हादसे की सूचना मिलते ही मृतकों और घायलों के परिजन मौके पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: कैंची धाम मेले को लेकर 14 व 15 को रहेगा यातायात डायवर्ट, देखें रूट……

इधर स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया की देर रात 9:30 बजे तक पुलिस और जिला प्रशासन के उच्च अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे थे। इसको लेकर लोगों में नाराजगी देखने को मिली। हालांकि खनस्यू थानाध्यक्ष और राजस्व विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू अभियान चलाए रखा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने की उच्चस्तरीय बैठक, चारधाम यात्रा को लेकर दिए ये निर्देश

सीओ भीमताल सुमित पांडे ने बताया, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू अभियान चलाकर घायलों को हल्द्वानी एसटीएच के लिए रेफर किया। साथ ही मृतकों के शवों को सड़क पर लाया गया। हादसे के कारणों का पता नहीं चल पाया है। जांच की जा रही है।